Haryanaphatahabad

फर्जीवाड़ा। साईबर अपराध बारे जानकारी से ही बचाव संभव : डीएसपी गीतिका जाखड़

फतेहाबाद, दिसम्बर। फतेहाबाद पुलिस द्वारा आम लोगों को साइबर क्राइम से बचाव के प्रति जागरूक करने के लिए चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत आज सीएमआर राजकीय महिला महाविद्यालय भोडिय़ाखेड़ा में जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में मुख्य अतिथि के तौर पर डीएसपी गीतिका जाखड़ ने भाग लिया और छात्राओं को साइबर अपराधों से बचाव को लेकर बरती जाने वाली सावधानियों बारे विस्तार से बताया। कॉलेज प्राचार्य डॉ. हवा सिंह ने डीएसपी व अन्य पुलिस अधिकारियों का स्वागत करते हुए इस प्रकार के आयोजनों को युवाओं के लिए काफी लाभप्रद बताया। उन्होंने कहा कि इस प्रोग्राम से छात्राएं प्रेरणा भी लेंगी।डीएसपी ने कहा कि साइबर अपराधी ठगी करने की नियत से अलग-अलग तरह के तरीके अपनाते रहते हैं। साइबर अपराधी द्वारा किसी व्यक्ति को झांसा देते हुए पैसा प्राप्त करने के लिए अलग-अलग तरह के प्रलोभन दिए जाते हैं। ऐसे में हम जागरूक रहकर ही इस प्रकार की ठगी से बच सकते हैं। उन्होंने बताया कि किसी से जानकारी प्राप्त करने हेतु शातिर ठगों द्वारा तरह-तरह के हथकंडे अपनाए जाते हैं। साइबर अपराधी विभिन्न तरीकों से पीडि़त व्यक्ति से बैंकिग लेनदेन से संबंधित गोपनीय जानकारी जैसे एटीएम नंबर, यूपीआई पिन, पासवर्ड इत्यादि हासिल कर लेते हैं। यह गोपनीय जानकारी हासिल कर साइबर ठग द्वारा पीडि़त व्यक्ति के खाते से पैसों की अवैध निकासी कर ली जाती है। डीएसपी ने कहा कि साइबर क्राइम अथवा किसी भी प्रकार की ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए जरूरी है कि प्रत्येक उपयोगकर्ता इंटरनेट का इस्तेमाल करते समय फर्जी ऐप्स/लिंक्स के प्रति सतर्क रहे और गोपनीय बैंकिग जानकारी कभी भी प्रकार से किसी से सांझा ना करें। डीएसपी ने छात्राओं के साथ संवाद करते हुए उन्हें महिला अपराध रोकने को लेकर जिला पुलिस द्वारा किए जा रहे प्रयासों के अलावा डायल 112, महिला हैल्प लाईन 1091 व दुर्गा शक्ति ऐप बारे भी जानकारी दी। साइबर वालंटियर देवेन्द्र कमुार ने कहा कि आजकल हर प्रकार के कार्य ऑनलाइन होने लगे हैं। शिक्षा से लेकर वित्तीय लेन-देन तक सब ऑनलाइन हो गया है। ऐसे में ऑनलाइनलेन-देन करते हुए अनेक बातों का ध्यान रखना चाहिए। एएसआई सतीस कुमार ने भी छात्राओं को संबोधित करते हुए साइबर अपराध का शिकार होने से बचने के लिए अनेक तरह के उपाय बताए। वुमन सैल के प्रभारी प्रो.मंजू ने कहा कि इस प्रोग्राम के उपरांत छात्राओ में एक जोश देखा गया। उन्होंने डीएसपी गीतिका जाखड़ का महाविद्यालय में अपने विचारों से छत्राओं को लाभान्वित करने के लिए धन्यवाद किया। इस अवसर पर छत्राओ के साथ डॉ. विजय, डॉ. ज्योति, डॉ. अजीत, प्रो. सरोज, प्रो. रमन, डॉ. रमेश, प्रो. गगनदीप, प्रो. सारिका, प्रो. पिंकी, प्रो. कपिल  अन्य मौजूद रहे।

Comment here