Bharat News, India News
Haryana phatahabad

कोरोना से निपटने के लिए सीएसआर की महत्वपूर्ण योगदान : दुड़ाराम

फतेहाबाद, 
कोर्पोरेट सोशल रिस्पोंसिबलिटी (सीएसआर) का इस महामारी से लड़नें में बहुत योगदान है। कोरोना महामारी की प्रथम व द्वितीय लहर से निपटने के लिए सरकार द्वारा अथक प्रयास किए गए, जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आए है। कोरोना महामारी की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सरकार अपडेट है और सरकार द्वारा कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए है। इस बारे विस्तार से जानकारी देते हुए विधायक दुड़ाराम ने बताया कि कोरोना से निपटने के लिए कोर्पोरेट सोशल रिस्पोंसिबलिटी की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका रही है। प्रदेश में स्थापित बहुराष्ट्रीय कंपनियां, बड़े व्यावसायिक व औद्योगिक समूहों ने सीएसआर गतिविधियों के तहत स्वास्थ्य केंद्रों तक ऑक्सीजन पहुंचाकर, कोविड सेंटर व अस्पतालों का निर्माण, मरीजों के लिए वेंटीलेटर, ऑक्सीजन सिलेंडर व एंबुलेंस वाहन, चिकित्सकों व अन्य स्वास्थ्य कर्मियों के लिए पीपीई किट उपलब्ध करवाने, सैनेटाइजर, मास्क, दवाएं व अन्य आवश्यक सेवाएं उपलब्ध करवाने का काम किया है। विधायक ने बताया कि हरियाणा में सीएसआर को लेकर बड़े पैमाने पर काम हो रहा है। प्रदेश के विकास में सीएसआर की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसके तहत ही हरियाणा सीएसआर ट्रस्ट का गठन किया गया है। राज्य सरकार द्वारा जो सीएसआर पोर्टल शुरू किया था, उसका उद्देश्य विभिन्न कंपनियों द्वारा किए जा रहे सीएसआर कार्यों के बीच समन्वय स्थापित करना है। राज्य में पहले सीएसआर फंड का उपयोग विकास, स्वच्छता, पर्यावरण सुधार, आधारभूत सरंचना तथा  सामाजिक कार्यों पर खर्च किया जाता था। लेकिन अब कोविड-19 की महामारी के संकट को देखते हुए सरकार ने इसमें कोरोना को नियंत्रित करने के उपायों को प्राथमिकता के आधार पर शामिल किया। दुड़ाराम ने बताया कि पानीपत में पानीपत रिफाइनरी व हिसार में जिंदल इंडस्ट्रीज के सहयोग से 500-500 बिस्तरों के दो नए कोविड अस्पताल शुरू किए गए हैं जिनमें ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं आएगी, क्योंकि उनमें सीधे ही पाइपलाइन के जरिए पानीपत रिफाइनरी व हिसार में जिंदल इंडस्ट्रीज से ऑक्सीजन की आपूर्ति हो रही है। गुरूग्राम में सेक्टर-38 के ताऊ देवीलाल स्टेडियम में 100 ऑक्सीजन बेड तथा वायु सेना के सहयोग से 300 बेड के कोविड केयर सेंटर्स की शुरूआत की गई है। इसके अलावा गुरूग्राम में सेक्टर-14 में महिला राजकीय महाविद्यालय में हीरो ग्रुप के सहयोग से 100 ऑक्सीजन बेड के कोविड केयर सेंटर की शुरू किया गया है। गुरूग्राम के सिविल लाइन में मैनकाइंड फार्मों में 70 बेड का अस्पताल तैयार किया है जिसमें ऑक्सीजन की भी व्यवस्था की गई है। करनाल में 100 बेड के नए फिल्ड अस्पताल की शुरूआत की गई है। बाबा तारा चेरिटेबल अस्पताल रिसर्च सेंटर सिरसा में 150 बेड के कोविड केयर सेंटर की शुरूआत की गई है। इसी कड़ी में जिला फतेहाबाद में भी नागरिक अस्पताल फतेहाबाद, भट्टू कलां, रतिया में ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं, जिनका कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। विधायक ने बताया कि फतेहाबाद के नागरिक अस्पताल का ऑक्सीजन प्लांट का अधिकतर कार्य पूर्ण हो चुका है और जल्द शुरू होगा, जिससे ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी। फतेहाबाद में कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला प्रशासन अपडेट है और बचाव के लिए विभिन्न प्रकार की उचित व्यवस्था भी की गई है। उन्होंने नागरिकों से आग्रह किया है कि वे सरकार द्वारा समय-समय पर जारी गाइडलाइन का पालन करें, ताकि कोरोना संक्रमण से बचा जा सके।

Related posts

7 जनवरी को छह सैटरों में 150 लोगों पर होगा वैक्सीन का ट्रायल,

राजेन्द्र शर्मा

उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने ऑक्सीजन उत्पादक इकाईयों का दौरा कर उत्पादन क्षमता तथा उपलब्ध संसाधनों की समीक्षा की

विशेष कोरोना वैक्सिनेशन कैम्प का आयोजन 15 जून को

टोहाना मतदाता नाम जोड़ने व कटवाने के लिए नगर परिषद पहुंचे

315 बोर पिस्तौल व जिंदा कारतूस सहित आरोपी को किया गिरफ्तार

राष्ट्रीय गणित दिवस पर शिक्षा विभाग द्वारा जिला स्तरीय कार्यक्रम आयोजित

राजेन्द्र शर्मा

Leave a Comment

error: Content is protected !!