गाजीपुर । जनपद में जिला मुख्यालय स्थित रेलवे स्टेशन को शाम को दुधिया रोशनी से नहाये देख किसी का भी मन प्रसन्न हो जाएगा परन्तु अंदर की दूर व्यवस्था देख कर मन खिन्न् हो जाएगा। एक तरफ सरकार आम जन सुविधा के नाम पर रेलवे के टिकटों के दाम बढ़ाती जा रही है बावजूद सुविधाओं के नाम पर टोटा है।

चार साल पूर्व इस रेलवे स्टेशन के विकास में पूर्व केन्द्रीय रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने इसका कायाकल्प किया था। दिवालों के रंगो-रोगन से लेकर प्लेटफार्म के उच्च करने से लेकर स्वचलित सीढ़ियां लगायीं गयीं थीं पर आज हालत यह है कि स्वचलित सीढियाँ बंद रहतीं हैं। ऐसे में आमजन को तो छोड़िए दिव्यांगजन को भी इसका लाभ नहीं मिल रहा। आज रविवार को लखनऊ से आने वाले एक दिव्यांग यात्री को मजबूरन पैदल पारपथ जे रास्ते प्लेटफार्म पार करना पड़ा जबकि स्वचलित सीढियाँ मुंह चिढा रहीं थीं । आये दिन इस तरह की घटना से आप रुबरु हो जाएंगें। इस बाबत पीजी कालेज छात्रसंघ के पूर्व उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय ने जिलाधिकारी सहित रेलवे के अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कम से कम गाड़ियों के आगमन के समय स्वचालित सीढ़ियों को चलवाने की मांग की है ताकि सरकार की मंशा के अनुरुप लोगों को जनसुविधाओं का लाभ मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!