Monday, February 6, 2023
TechPAPA
HomePurvanchalGhazipurसरजू पाण्डेय पार्क बना खूनी पत्र का गवाह

सरजू पाण्डेय पार्क बना खूनी पत्र का गवाह

सरकारी उदासीनता के कारण जनपद की प्रतिभा की भ्रूण हत्या हो रही : दीपक

मांग गाजीपुर में और नींव रख्खी गयी आजमगढ़ में

गाजीपुर। आज शनिवार को जनपद में विश्वविद्यालय स्थापना को लेकर सरजू पाण्डेय पार्क में छात्रों ने मुख्यमंत्री के नाम खून से लिखे गये पत्र को जिलाधिकारी के माध्यम से भेजा गया।

मालूम हो कि आज पूर्वांचल के आजमगढ़ जनपद में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने विश्वविद्यालय की नींव रख्खी जबकि जनपद में विश्वविद्यालय स्थापना को लेकर छात्र कई वर्षों से लगातार पत्रक व धरना तथा ट्विटर पर ट्रेंड कराकर सरकार का ध्यान जनपद तरफ पड़ाने का पूरा प्रयास किये,इसी क्रम में कोई ठोस पहल न होने से छात्रों ने अपने विश्वविद्यालय स्थापना की मांग की तरफ सरकार का ध्यान आकर्षित कराने के लिए अपने खून से लिखा पत्र सरकार को भेजा। पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय ने बताया कि गाजीपुर जनपद की भूगौलिक पृष्ठभूमि 75 फीसदी ग्रामीण है कम आय वर्ग की जनता निवास करती हैं ऐसे में गरीब छात्र अन्यत्र जाकर शिक्षा ग्रहण नहीं कर पाते। यहां की प्रतिभा समय से पहले ही दम तोड़ देती है। सरकार की उदासीनता से यहाँ की प्रतिभा की भ्रूण हत्या हो रही है। यहां उच्च शिक्षा का अभाव है, विश्वविद्यालय स्थापना के सभी मानक पूर्ण करने के बावजूद आज तक गाजीपुर जनपद विश्वविद्यालय विहीन है और हम सभी को उच्च शिक्षा ग्रहण करने का पूरा अधिकार है इस वजह से आज छात्रों ने खून से लिखा पत्र सरकार को भेजने का काम किये है, ताकि सरकार शीघ्र विश्वविद्यालय को लेकर घोषणा करें।

जिला पंचायत सदस्य गोविन्द यादव ने कहा कि छात्र वर्षों से यह मांग उठा रहे हैं लेकिन सरकार का ध्यान गाजीपुर जनपद की तरफ नहीं पड़ रहा इस वजह से मजबूरन छात्रों को खून से लिखा पत्र सरकार को भेजना पड़ा रहा।छात्र संघ के महामंत्री प्रवीण विश्वकर्मा ने कहा कि विश्वविद्यालय कि मांग जल्द से जल्द पूर्ण नहीं की जाती है तो जनसमर्थन से छात्र उग्र आंदोलन को बाध्य होंगे तथा सभी छात्रों ने एक स्वर में कहा कि सरकार शीघ्र विश्वविद्यालय की मांग पूर्ण नहीं करती हैं तो विश्वविद्यालय स्थापना की मांग पूर्ण कराने तक छात्र अब धरना प्रदर्शन पर बैठने को बाध्य होंगे।

पत्रक सौंपने वालों में जिला पंचायत सदस्य गोविन्द यादव,पूर्व छात्र संघ उपाध्यक्ष दीपक उपाध्याय, महामंत्री प्रवीण विश्वकर्मा, रघुराज प्रताप सिंह, अभिषेक कुमार गौड़, शैलेश यादव, अमन कश्यप, अरुण कुमार ,ओजस्वी साहू, अनिल कुमार, दीपक कुमार, हेमंत श्रीवास्तव, निखिल राज भारती, आकाश विश्वकर्मा, रणविजय प्रताप, मोहन रावत, राजदीप रावत, दीपक यादव, शशांक सिंह, विशाल चौधरी, चमचम चौबे, अवनीश प्रताप सिंह, अभिनव सिंह, सौरभ खरवार ,कुश इत्यादि सैकड़ों छात्र मौजूद थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular