Thursday, April 25, 2024
spot_img
Homeghaziabadकुंठा त्याग करके हम वैकुंठ को प्राप्त करें :अमिताभ अग्निहोत्री

कुंठा त्याग करके हम वैकुंठ को प्राप्त करें :अमिताभ अग्निहोत्री

काव्यलोक संस्था का द्वितीय वार्षिकोत्सव धूमधाम से मनाया गया

दीपक कुमार त्यागी / स्वतंत्र पत्रकार

गीत ऋषि सोम ठाकुर जी अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त श्रेष्ठ कवि हैं जिनके अनमोल योगदान को हिंदी साहित्य हमेशा याद रखेगा – अमिताभ अग्निहोत्री

इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को जीवन जीने का शानदार सकारात्मक मूल मंत्र देते हुए पत्रकारिता जगत के दिग्गज अमिताभ अग्निहोत्री ने कहा कि आज समाज व हमारे हित में है कि हम लोग कुंठा त्याग करके हम वैकुंठ को प्राप्त करें

गाजियाबाद, 16 अप्रैल 2023। भारतीय काव्य के प्रचार-प्रसार के लिए समर्पित संस्था काव्यलोक ने देश के दिग्गज कवि व साहित्यकारों की उपस्थिति में विगत वर्ष की तरह इस वर्ष भी अपना द्वितीय वार्षिकोत्सव गाजियाबाद के कवि नगर में स्थित लायंस क्लब में बड़ी भव्यता के साथ धूमधाम से मनाया। इस कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों की गणमान्य शख्सियत उपस्थित रहीं, काव्यलोक संस्था का वार्षिकोत्सव का यह कार्यक्रम अब धीरे-धीरे एक विशाल उत्सव के रूप में परिवर्तित होता जा रहा है।

इस वर्ष के कार्यक्रम का विशेष आकर्षण गाजियाबाद के बहुत ही सम्मानित और श्रेष्ठ कवि तथा काव्यलोक संस्था के संस्थापक राजीव सिंहल जी का षष्टिपूर्ति समारोह का रहा। संस्था के सभी लोगों के साथ-साथ सम्मानित अतिथियों ने बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ राजीव सिंहल के जन्मदिवस को मनाया। इस कार्यक्रम में गाजियाबाद के सभी सम्मानित कवियों के साथ-साथ बाहर से आये बहुत सारे कविगण भी उपस्थित रहे और राजीव सिंहल के परिवार के सदस्यों व मित्रों ने भी आकर कार्यक्रम की शोभा बढ़ाने का कार्य किया।

इस कार्यक्रम में दुनिया में भारत का गौरव बढ़ाने वाली शानदार शख्सियत अंतरराष्ट्रीय कवि गीत ऋषि सोम ठाकुर भी उपस्थित रहे, जिनको काव्यलोक संस्था ने विशेष सम्मान “डॉ कुँअर बेचैन स्मृति सम्मान 2023” प्रदान करने का कार्य किया, कार्यक्रम में उपस्थित लोगों ने कवि सोम ठाकुर के गीतों का जमकर लुत्फ उठाने कार्य किया। इस कार्यक्रम का विशेष आकर्षण कार्यक्रम के मुख्य अतिथि भारतीय पत्रकारिता जगत की दिग्गज शख्सियत अमिताभ अग्निहोत्री रहे, उन्होंने गीत ऋषि सोम ठाकुर के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि गीत ऋषि सोम ठाकुर अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त श्रेष्ठ कवि हैं जिनके अनमोल योगदान को हिंदी साहित्य हमेशा याद रखने कार्य करेगा, इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को जीवन जीने का शानदार मूल मंत्र देते हुए अमिताभ अग्निहोत्री ने कहा कि आज समाज व हमारे हित में है कि हम लोग कुंठा त्याग करके वैकुंठ को प्राप्त करें।

इस कार्यक्रम का संरक्षण डॉ अशोक मैत्री, गोविंद गुलशन, डॉ वागीश दिनकर, दीक्षित दनकौरी तथा डॉक्टर अतुल जैन के द्वारा किया गया तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता काव्यलोक की अध्यक्ष मातृशक्ति आदरणीय डॉ रमा सिंह ने की। कार्यक्रम में सानिध्य माननीय पंडित गणेश दत्त शर्मा ‘शास्त्री’, देश के प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्य पंडित अरुण कौशिक, अमर भारती के संपादक शैलेंद्र जैन ‘अप्रिय’ रहे। कार्यक्रम के स्वागताध्यक्ष देवेंद्र हितकारी रहे जो कि सांसद प्रतिनिधि हैं। काव्यलोक संस्था के संस्थापक राजीव सिंहल तथा उनकी धर्मपत्नी बबीता सिंहल संस्थापक अध्यक्ष मीना देवी सेवार्थ गाजियाबाद व महासचिव कवयित्री गार्गी कौशिक के सौजन्य से कार्यक्रम संपन्न रहा।

यहां आपको बता दें कि काव्यलोक संस्था प्रतिवर्ष दो महत्वपूर्ण बड़े सम्मान प्रदान करती है जिसमें प्रथम सम्मान ‘डॉ कुंवर बेचैन स्मृति सम्मान’ जो कि इस वर्ष गीत ऋषि सोम ठाकुर को दिया गया जो कि देश दुनिया में किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं, वहीं दूसरा सम्मान ‘श्रेष्ठ रचनाकार का सम्मान’ जो कि गाजियाबाद की डॉ श्वेता त्यागी को दिया गया जो कि एक कवयित्री होने के साथ-साथ एक चिकित्सक भी हैं।

इस शानदार भव्य कार्यक्रम की शुरुआत माॅ सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्वलन से हुई जिसमें सभी विशिष्टत अतिथियों, संस्थापक, अध्यक्ष, सभी काव्यलोक परिवार के सदस्य तथा सभी मुख्य अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर मां शारदे का आवाह्न किया गया।
काव्यलोक संस्था की महासचिव गार्गी कौशिक के द्वारा सरस्वती वंदना बहुत ही मधुरता से प्रस्तुत की गई, कार्यक्रम का शुभारंभ से ही बहुत ही सुंदर रहा। तत्पश्चात महासचिव गार्गी कौशिक द्वारा काव्यलोक संस्था की वर्ष 2023 की वार्षिक रिपोर्ट पढी गयी, तत्पश्चात सभी अतिथियों तथा विशिष्ट अतिथियों का सम्मान किया गया तथा डॉ कुंअर बेचैन स्मृति सम्मान व श्रेष्ठ रचनाकार सम्मान दिए गए।

उसके बाद कार्यक्रम में सभी विशिष्ट अतिथियों ने अपने-अपने निराले अंदाज से भाषण दिया तथा राजीव सिंहल जी के षष्टिपूर्ति समारोह पर उन्हें विशेष बधाईयां दी। इस अवसर पर सभी अतिथियों ने राजीव सिंहल को अनेकों शुभकामनाएं दी संस्था के लोगों और विशेष अतिथियों के साथ-साथ राजीव सिंहल के परिवार के लोगों ने भी इस अवसर पर सम्मिलित होकर उनको विशेष आशीष प्रदान किए और केक काटा गया। कार्यक्रम में काव्यलोक वार्षिकी का लोकार्पण भी सभी सम्मानित अतिथियों व संस्था के पदाधिकारियों के द्वारा किया गया।

इस कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण गीत ऋषि सोम ठाकुर की पुरानी स्मृतियों को याद किया गया और उनकी रचनाओं और उनकी लेखनी के विषय में विस्तृत चर्चा की गयी, जिससे आने वाली पीढ़ी को एक नया मार्गदर्शन मिलेगा। इस अवसर गीत ऋषि सोम ठाकुर ने अपने गीतों और रचनाओं के माध्यम से सभागार में सभी जनसमूह को मोहित कर दिया, सभी ने 90 वर्ष की आयु में उनके द्वारा सुनाए गए गीतों का बहुत आनंद लिया। इस अवसर संस्था के अध्यक्ष राजीव सिंहल ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम समाज में एक नई सकारात्मक दिशा और नई चेतना को जागृत करते हैं, समाज को एक नई दिशा देते हैं तथा आने वाली पीढ़ी का मार्गदर्शन भी करते हैं, उन्होंने कहा कि सभी के सहयोग से निसंदेह कार्यक्रम बहुत ही श्रेष्ठ और भव्य रहा और बहुत यादगार रहा।
कार्यक्रम की समाप्ति से पूर्व काव्यलोक की अध्यक्ष डॉ रमा सिंह द्वारा सभी आगंतुकों का आयोजन में पधारने का धन्यवाद दिया व आभार प्रकट किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular