Wednesday, April 24, 2024
spot_img
HomebharatDelhiसांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों का ...

सांसद बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों का …

दिल्ली। माफिया और दाऊद इब्राहिम से जुड़े होने के आरोपित सांसद ब्रिज भूषण शरण सिंह के खिलाफ देश के उन बड़े पहलवानों ने मोर्चा खोल दिया है जो सरेआम सत्ताधारी दल के समर्थक कहलाते हैं। ये लोग कुछ महीने पहले भी जंतर मंतर पर धरने पर बैठे थे। इस बार इन पहलवानों ने दिल्ली पुलिस को भी आरोपों में लपेटा है। इनमें बजरंग पुनिया, वीनेश फोगाट, साक्षी मलिक आदि ओलंपियन शामिल हैं।

विरोध प्रदर्शन करने वाले पहलवानों ने बताया कि लड़कियों ने यौन उत्पीड़न के संबंध में बृजभूषण सिंह के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दी लेकिन अभी तक दर्ज नहीं की गई है। POCSO का मामला होना चाहिए। हम ढाई महीने से इंतजार कर रहे हैं।

पहलवान साक्षी मलिक ने कहा कि सात पहलवान लड़कियों ने ब्रजभूषण के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत की है लेकिन मामले में FIR दर्ज नहीं की जा रही है। मलिक ने कहा कि यह इतना सेंसेटिव केस है, लेकिन इसमें देरी क्यों हो रही है, यह समझ से परे है।

पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि तीन महीने हो गए और हमें न्याय नहीं मिला। इसलिए हम फिर से विरोध कर रहे हैं। हम न्याय की मांग करते हैं, अभी तक एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। हम आभारी हैं कि दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) हमारा समर्थन कर रहा है।

पहलवानों ने बताया कि सरकार ने उनके साथ धोखा किया है, एक महीने में कार्रवाई का भरोसा दिया गया था लेकिन अब तीन महीने बाद भी जांच रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गई है। हम कितना इंतजार करें।

जनवरी में डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष पर कई गंभीर आरोप लगाते हुए ओलंपियन पहलवान दिल्ली के जंतर-मंतर पर धरने पर बैठ गए थे। अगले दिन कई राज्यों के पहलवान और खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों, कोच व खिलाड़ियों ने पहलवानों को समर्थन देते हुए उनके प्रदर्शन में भाग लिया था।

पहलवानों ने मनमानी करने और महिला पहलवानों के यौन शोषण के भी आरोप अध्यक्ष पर लगाए थे। तीन दिन के धरने के बाद केंद्रीय खेल मंत्रालय ने जांच कमेटी बनाते हुए एक महीने में जांच की बात कहते हुए कार्रवाई का भरोसा दिया था।

ओलंपियन बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट के साथ पहलवानों ने बड़े टूर्नामेंटों में खेलने का बहिष्कार कर दिया था लेकिन बाद में पहलवान खेलने लग गए थे। बजरंग और विनेश ने अपना बहिष्कार जारी रखा था।

पिछले महीने बजरंग, संगीता और विनेश की विदेश में ट्रेनिंग मंजूर की गई थी लेकिन वे नहीं गए। पहलवानों ने कहा है कि न्याय मिलने तक वे नहीं खेलेंगे। एक पहलवान ने बताया कि अगर दोबारा धरना दिया जाता है तो सभी पहलवान दोबारा से एकजुट हो जाएंगे। ( स्रोत : पंकज चतुर्वेदी से वाल से )

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular