Tuesday, March 5, 2024
spot_img
HomeUttar PradeshGhazipurआमघाट में योग के साथ योग सप्ताह शुरू

आमघाट में योग के साथ योग सप्ताह शुरू

नवम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस एवं योग सप्ताह को “हर घर योग”(दिनांक15जून से21 जून2023) सफल बनाने के उद्देश्य से मा०नगर पालिका अध्यक्ष और मुख्य विकास अधिकारी ने भगवान धन्वनतरि के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर योग सप्ताह का आमघाट गांधी पार्क में शुभारंभ किया गया।

योग पखवारा कायक्रम का उद्घाटन दिनांक 15 जून 2023 को गाधीपार्क आमघाट कालोनी गाजीपुर मे किया गया।उसमे लगभग 1500 लाभार्थियो को रूद्र प्रकाश तिवारी (वाई0डब्ल्यू0सी0) द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। । यह पखवारा दिनांक 15.06.2023 से 21.06.2023 तक प्रातः 6:30 से 07:30 बजे तक विभिन्न तहसील,ब्लाक,विकास खंड,नगर पालिका ,पंचायत मुख्यालय परआयोजित कर प्रशिक्षण दिया जाएगा।


योग सप्ताह के शुभारम्भ के अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि योग हमारी जीवन शैली का अहम हिस्सा है। यह आज से नहीं बल्कि कई सालों से भारतीय संस्कृति का अहम हिस्सा बना हुआ है। योग शरीर से लेकर मस्तिष्क तक के लिए भी फायदेमंद है। यह आपके शरीर को लचीलापन रखने के साथ-साथ मांसपेशियों में ताकत और बॉडी टोन करने के लिए भी फायदेमंद है। योग आपके जीवन में एक नई उर्जा का प्रवाह करता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए और योग को लेकर ज्यादा से ज्यादा लोगों के बीच जागरूकता फैलाने के लिए हर साल 21 जून को इंटरनेशल योग दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष दिनांक 15.06.2023 से 21.06.2023 तक योग सप्ताह के रूप में मनाया जायेगा। जिसके दृष्टिगत आज जिला स्पोर्टस स्टेडियम में योग सप्ताह का शुभारम्भ किया गया है।
नगर पालिका अध्यक्ष सरिता अग्रवाल ने कहा कि योग करना कोई नई बात नहीं है बल्कि इसकी उत्पत्ति भारत में हजारों साल पहले ही हो गई थी। सिर्फ इतना ही नहीं इसका जिक्र पौराणिक पुस्तकों में भी मिलता है। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की अवधारणा पहली बार प्रधान मंत्री मोदी द्वारा 27 सितंबर, 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में अपने भाषण के दौरान इसे लेकर प्रस्ताव रखा था। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 11 दिसंबर, 2014 को घोषणा की कि 21 जून को योग दिवस के रूप में मनाया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को विश्व योग दिवस के रूप में देखा जाता है। उन्होंने कहा कि यदि आप जीवन की चिंता पर विजय पाना चाहते हैं, तो इस क्षण में जियें, सांसों में जियें, जब आप खुद की सुनते हैं, तो सब कुछ स्वाभाविक रूप से आता है। यह अंदर से आता है, कुछ करने की इच्छा होती है। संवेदनशील होने की कोशिश करें यही योग है।
इस अवसर पर, जिला विद्यालय निरीक्षक, अधि0अभि0 नगर पालिका गाजीपुर, अन्य विभागों अधिकारी/कर्मचारी एवं अधिक संख्या में जनसामान्य आदि उपस्थित रहे। संचालन सुभाष प्रसाद ने0यु0के0 ने किया।
 ……………………………….

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular