Monday, April 22, 2024
spot_img
HomeUttar PradeshGhazipurकांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल दल मिला पीड़ित परिवार से

कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल दल मिला पीड़ित परिवार से

गाजीपुर। रेवतीपुर थाना क्षेत्र के टौगा में अचेता अवस्था और अर्धनग्न अवस्था में नाबालिग बालिका के परिवार जनों से आज कांग्रेस का प्रतिनिधि मंडल जिलाध्यक्ष सुनील राम के नेतृत्व में मिला। प्रतिनिधि मंडल में शामिल कांग्रेस के पी सी सी सदस्य व ग्राम प्रधान संघ के पूर्व जिलाध्यक्ष रविकांत राय ने प्रदेश सरकार को कोसते हुए कहा कि वर्तमान सरकार में अपराध, गैगरेप, भ्रष्टाचार चरम पर है। सरकार राम मन्दिर को विकास का मुद्दा बना रही है जबकि आम जनता गरीबी, महगाई से त्रस्त है।

जिलाध्यक्ष सुनील राम ने कहा कि वर्तमान सरकार में दलितों पर अत्याचार बढा है। इस सरकार में दलितों की कोई नहीं सुनते। नाबालिग दलित की सुनवाई अगर समय से होती तो इतनी बड़ी वारदात नहीं होती। प्रतिनिधि मंडल दल में सुनील राम जिला अध्यक्ष, रविकांत राय एआईसीसी सदस्य, संदीप विश्वकर्मा शहर अध्यक्ष, आलोक यादव सोशल मीडिया जिला अध्यक्ष, राजेश गुप्ता, विद्याधर पांडे, संदीप उपाध्याय, ब्लॉक अध्यक्ष, अशोक सिंह अनेक लोग शामिल थे।

मालूम हो कि रेवतीपुर थाना क्षेत्र के एक गांव से दो दिन पूर्व संदिग्ध परिस्थितियों में लापता गंभीर रूप से घायल किशोरी सोमवार की देर शाम धान के खेत में मिली। किशोरी का गला रेता हुआ था और सिर पर गंभीर चोट भी थे। वह अचेत अवस्था में पड़ी हुई थी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने किशोरी को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज अस्पताल लाया गया। जहां इलाज के बाद मेडिकल परीक्षण के लिए महिला अस्पताल भेजा गया। इसके बाद डाक्टरों ने उसे ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। जहां हालत गंभीर बनी हुई है। जमानिया सीओ विधि भूषण मौर्य ने परिजनों से पूछताछ करने के बाद पीड़िता के परिजनों से पूछताछ की। साथ ही अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्जकर छानबीन शुरू कर दी। इस घटना को लेकर परिजनों सहित ग्रामीणों में थानाध्यक्ष के लापरवाही के चलते आक्रोश है। परिजनों व ग्रामीणों ने किशोरी के साथ दुष्कर्म की भी आशंका जाहिर किया है। घटना को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह ने टीम गठित कर आरोपियों को दबोचने का निर्देश दिया। एसपी को पीड़िता के  परिजनों ने बताया कि बीते 11 नवंबर को पुत्री घर से खेत जा रही थी। घर वापस नहीं आई। तहरीर मिलने के बाद पुलिस ने इसके खुलासे के लिए कई संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटने के साथ ही कई मोबाइल नंबरों को भी सर्विलांस के जरिए ट्रेस करने में जुटी है। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक ओंमवीर सिंह ने बताया कि घटना गंभीर है। इसके खुलासे के लिए टीमें लगी हैं। बताया कि किशोरी का ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा है। जल्द ही आरोपी गिरफ्तार किए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular