Thursday, June 20, 2024
spot_img
HomeKuchh Hatakeपांच प्रकार से किया जाता है अभिवादन

पांच प्रकार से किया जाता है अभिवादन

१- प्रत्युथान :—
-किसी के स्वागत में उठ कर खड़े होना ।
२- नमस्कार :—
-हाथ जोड़ कर सत्कार करना ।
३-उपसंग्रहण : —-
आयु वृद्ध, ज्ञानवृद्ध, शिक्षकआचार्य,गुरुजन कुल परिवार एवं सम्बन्धी वर्ग का यथोचित अभिवादन करना यही हमारा शिष्टाचार है ।

४-साष्टांग :- -पाँव, घुटने, पेट, सर और हाथ के बल जमीन पर पूरे लेट कर सम्मान करना ।

५- प्रत्याभिवादन : – -अभिनन्दन का अभिनन्दन से उत्तर देना । यथोचित श्रेष्ठ जन को नित्य अभिवादन करने से आयु _ विद्यायशऔर बल इनके आशीष वचनों से स्वत:प्राप्त होते है।
शीलस्य ,नित्य वृद्धोपसेविन:!


चत्वारि तस्य वर्धन्ते आर्युविद्या यशो बलम् !!
अच्छे भाव से किया हुआ सम्मान के बदले बड़े लोग आशीर्वाद देते है जो एक सकारात्मक ऊर्जा होती है l
( संकलन: पं० भानू प्रताप चतुर्वेदी)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular

dafabet login

betvisa login ipl win app iplwin app betvisa app crickex login dafabet bc game gullybet app https://dominame.cl/ iplwin

dream11

10cric

fun88

1win

indibet

bc game

rummy

rs7sports

rummy circle

paripesa

mostbet

my11circle

raja567

crazy time live stats

crazy time live stats

dafabet

https://rummysatta1.in/

https://rummyjoy1.in/

https://rummymate1.in/

https://rummynabob1.in/

https://rummymodern1.in/

https://rummygold1.com/

https://rummyola1.in/

https://rummyeast1.in/

https://holyrummy1.org/

https://rummydeity1.in/

https://rummytour1.in/

https://rummywealth1.in/

https://yonorummy1.in/