Monday, February 26, 2024
spot_img
HomeUttar PradeshGhazipurफाइलेरिया उन्मुलन के निमित्त निकाली गई रैली

फाइलेरिया उन्मुलन के निमित्त निकाली गई रैली

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने लिया भाग


गाजीपुर  09 अगस्त, 2023 (सू0वि0) – राष्ट्रीय फाइलेरिया उन्मूलन कार्यक्रम के तहत गुरुवार (10 अगस्त) से सामूहिक दवा सेवन (एमडीए) अभियान शुरू किया जाएगा। यह अभियान 28 अगस्त तक संचालित किया जाएगा। इसी उद्देश्य से बुधवार को कासिमाबाद ब्लॉक के सुखत उच्च प्राथमिक विद्यालय से जागरूकता रैली निकाली गई। इस दौरान समुदाय को फाइलेरिया से बचाव के लिए एमडीए दवा के सेवन करने के बारे में जागरूक किया गया। रैली में ग्राम प्रधान, शिक्षक, आशा-आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं फाइलेरिया रोगी सहायता समूह (पीएसजी) नेटवर्क के सदस्य शामिल रहे।  
          मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ देश दीपक पाल ने बताया कि फाइलेरिया एमडीए अभियान के सफलता पूर्वक संचालन के लिए विभाग ने समस्त तैयारियां पूरी कर ली हैं। इस अभियान में एक वर्ष से ऊपर के सभी बच्चों, वयस्कों सहित समस्त आबादी को फाइलेरिया से बचाव की दवा खिलाई जाएगी। प्रशिक्षित ड्रग एडमिनिस्ट्रेटर, आशा कार्यकर्ताओं और अन्य स्वास्थ्यकर्मी अपने समक्ष सभी को एमडीए की दवा खिलाएँगे। यह दवा किसी भी व्यक्ति को वितरित नहीं की जाएगी। इसके अलावा यह दवा एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और गंभीर रूप से ग्रसित व्यक्तियों को नहीं खिलाई जानी है। साथ ही यह दवा खाली पेट नहीं खानी है।
          सीएमओ ने बताया कि गुरुवार से जनपद के सभी 16 ब्लॉक व नगरीय क्षेत्रों में एमडीए राउंड संचालित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि फाइलेरिया (फीलपाँव या हाथीपाँव) वाहक मच्छर क्यूलेक्स के काटने के बाद इसके लक्षण पांच से 15 साल के बाद दिखाई देते हैं। इसलिए एक साल से ऊपर के सभी बच्चों, किशोर-किशोरियों, वयस्कों, वृद्धजनों को फाइलेरिया से बचाव की दवा जरूर खानी चाहिए। इस दवा के साल में एक बार और पाँच साल लगातार सेवन करने से हम फाइलेरिया से सुरक्षित बन सकते हैं। अभियान की सफलता के लिए जन सहभागिता बेहद जरूरी है।
          जिला मलेरिया अधिकारी (डीएमओ) मनोज कुमार ने बताया कि जनपद मुख्यालय पर गुरुवार (10 अगस्त) को एमडीए अभियान का शुभारंभ जिलाधिकारी आर्यका अखौरी के द्वारा नगर पालिका परिषद अध्यक्ष सरिता अग्रवाल की उपस्थिति में महुआबाग स्थित आदर्श इंटर कॉलेज से किया जाएगा। इसके अलावा जिले के 16 ब्लॉक स्तरीय सीएचसी-पीएचसी पर भी जनप्रतिनिधि और अधिकारी के अभियान की शुरुआत करेंगे। उन्होंने सभी से अपील है कि इस अभियान में सरकार का सहयोग करें। खुद दवा खाएं और अपने आस-पास के लोगों को भी दवा खाने के लिए प्रेरित करें। एमडीए की सभी दवाएं पूरी तरह सुरक्षित हैं। हालांकि इन दवाओं का कोई विपरीत प्रभाव नहीं है। लेकिन किसी भी प्रकार का प्रतिकूल प्रभाव दिखाई देने पर प्रशिक्षित रैपिड रिस्पांस टीम (आरआरटी) बनाई गई है। आवश्यकता पड़ने पर आरआरटी को उपचार के लिए तुरंत बुलाया जा सकता है।
……………………………..
जिला सूचना कार्यालय द्वारा प्रचारित।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular