Tuesday, March 5, 2024
spot_img
HomeUttar PradeshGhazipurयू.पी.सी.ए. में किसी को प्रतिनिधि नियुक्त करने का अधिकार नहीं – यू.पी.सी.ए.|

यू.पी.सी.ए. में किसी को प्रतिनिधि नियुक्त करने का अधिकार नहीं – यू.पी.सी.ए.|


उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (यू.पी.सी.ए.) में चल रहे विवादों को विराम देने के उद्देश्य से संस्था के कार्यालय कमला क्लब में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया | प्रेस वार्ता की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव की अनुपस्थिति में संयुक्त सचिव रियासत अली ने की | सर्व प्रथम उन्होंने लीगल सेल के चेयरमैन नियुक्त किये गए इंदु प्रकाश मिश्रा, अपैक्स कौंसिल सदस्य संजीव कुमार सिंह तथा मीडिया प्रभारी मो० फहीम का पत्रकारों से परिचय कराया |
प्रेस वार्ता में पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए इंदु प्रकाश मिश्रा चेयरमैन ने कहा कि यू.पी.सी.ए. संस्था भारतीय कंपनी अधिनियम के नियमों के अंतर्गत पंजीकृत संस्था है | इस परिस्थिति में यू.पी.सी.ए. के अन्दर किसी को यह अधिकार नहीं है कि वह अपना प्रतिनिधि नियुक्त कर सके | इस सन्दर्भ में भारतीय विधि आयोग में चेयरमैन तथा एथिक्स अधिकारी न्यायमूर्ति ऋतुराज अवस्थी से भी उनकी ओपिनियन / दिशा-निर्देश ली गई जिसमे उन्होंने स्पष्ट कहा है कि कंपनी अधिनियम अथवा अन्य किसी अधिनियम के अंतर्गत किसी भी पदाधिकारी को अपना प्रतिनिधि नियुक्त करने का अधिकार नहीं है | अगर किसी पदाधिकारी ने ऐसा किया है तो उनके खिलाफ क़ानूनी कार्यवाही की जा सकती है तथा ऐसे कृत्य न्यायिक अवहेलना के श्रेणी के अंतर्गत आता है | ऐसे किसी भी कृत के पाए जाने की स्थिति में यू.पी.सी.ए. न्यायिक कार्यवाही कर सकती है | आप सभी पत्रकार बंधू किसी भी समय मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं | अर्चना मिश्रा व रीता डे विवाद के सम्बन्ध में इंदु प्रकाश मिश्रा ने बताया कि यह उनका निजी मसला है जिसका यू.पी.सी.ए. तथा खेल जगत से कोई सम्बन्ध नहीं है तथा इसके लिए एक उच्च स्तरीय जांच समिति का गठन किया गया है | जांच के उपरांत दोषी के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की जाएगी |
इस अवसर पर यू.पी.सी.ए. के अप्सेक्स कौंसिल सदस्य संजीव कुमार सिंह पत्रकारों को सम्बोधित करते हुए बताया कि सर्वप्रथम मैं आप सभी का ध्यान आकृष्ट करना चाहता हूँ कि उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के नाम से ही विदित होता है कि यह कोई व्यवसायिक अथवा व्यापारिक संस्था नहीं है हम कोई बिल्डर अथवा मैन्युफैक्चरिंग का काम नहीं करते हैं | हम प्रदेश में क्रिकेट के विकास करना तथा क्रिकेट खिलाडियों को चिह्नित कर उन्हें शीर्ष स्थान तक पहुँचाने का कार्य करते हैं | यू.पी.सी.ए. का मुख्य उद्देश्य उत्तर प्रदेश राज्य के ग्रामीण तथा शहरी अंचल के समस्त क्रिकेट खिलाड़ियों का बहुमुखी विकास करना है | इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए संस्था के समस्त अधिकारी, कर्मचारी, अंपायर कोच, चयनकर्ता दिन-रात प्रयत्नशील हैं | वर्तमान समय में यू.पी.सी.ए. के खिलाडियों का चयन आईपीएल तथा अन्य अंतर्राष्ट्रीय व राष्ट्रीय टीम में हुआ है जो कि संस्था के कठिन प्रयासों का सकारात्मक परिणाम है | यदि संस्था आधारहीन तथ्यों के आधार पर कोर्ट –कचहरी के चक्कर में फंस जाएगी तो ऐसे में प्रदेश के खिलाडियों के चलाये जा रहे विकास कार्य में बाधा उत्पन्न होगी | पत्रकारों के यह पूछे जाने पर कि आज कल जो समाचार भिन्न – भिन्न माध्यमों से प्रकाशित हो रहा उस पर आपका क्या कहना है ? का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि यह सभी सूचनाएं आधारहीन व भ्रामक है | इस प्रकार के तथ्यों का प्रचार-प्रसार करने के पीछे मात्र खिलाडियों व् खेल प्रेमियों को भ्रमित कर उन्हने दुविधा की स्थिति में रखना और संस्था को बदनाम करना है | सिंघानिया परिवार से सम्बन्धित प्रश्न पर उन्होंने कहा कि सिंघानिया परिवार बड़ा ही सम्मानित परिवार है | मेरे द्वारा इस परिवार की वरिष्ठ महिला सदस्या से भी प्रतिनिधि नियुक्त किये जाए के बावत बात की गई थी | परन्तु उन्होंने भी इन्कार करते हुए बताया कि न तो उन्होंने कोई प्रतिनिधि नियुक्त किया है और न ही इस सम्बन्ध में उन्हें किसी भी प्रकार की कोई जानकारी है | पूर्व में भी यदुपति सिंघानिया जी को कुछ व्यक्ति के समूह ने बदनाम करने का कृत्य किया था जो की पुनः सक्रिय हो गए हैं | वर्तमान समय में चल रहे विवादों को विराम देने के उद्देश्य से ही आज की प्रेस वार्ता बुलाई गई है एवं संस्था के लीगल सेल के चेयरमैन इंदु प्रकाश मिश्रा का मोबाइल नंबर आप सभी को साँझा किया गया है जिससे कि भविष्य आप सभी किसी भी प्राप्त सूचना की पुष्टि कर सके | उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन पहले भी अपने प्रदेश के खिलाडियों के विकास के प्रति कटिबद्ध था और भविष्य में भी खिलाडियों के विकास के प्रति कटिबद्ध रहेगा | जहाँ तक संस्था के अध्यक्ष की बात है यहाँ मैं स्पष्ट करना चाहूँगा कि अध्यक्ष महोदय उत्तर प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के पंजीकृत संविधान से भली-भांति परिचित हैं, वह कोई भी कार्य करने से पूर्व इस बात का ध्यान रखते है कि संविधान के किसी भी नियमों की अवहेलना न हो |
अंत में मीडिया प्रभारी मो० फहीम ने प्रेस वार्ता में शामिल सभी पत्रकारों को धन्यवाद देते हुए कहा कि जनमानस के मध्य मीडिया की अहम भूमिका रही है | अतः आप सभी पत्रकारों से अपील है कि किसी भी सूचना को प्रकाशित करने से पूर्व लीगल सेल के चेयरमैन इंदु प्रकाश मिश्रा से सत्यता की पुष्टि अवश्य कर लें |

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular