Thursday, February 2, 2023
TechPAPA
HomebharatUttar Pradeshयह कैसा सामुहिक पिंडदान

यह कैसा सामुहिक पिंडदान

अनरवत सात साल से जारी है पिंडदा

गाजीपुर। पैसे के लिए लूट हत्या चोरी तो बहुत सुना होगा आपने परन्तु किसी लावारिस असहाय गरीब और बेसहारा का सहारा बनने के किस्से कम ही सुनने को मिला होगा।आज का दिन एक साल तक लावारिस लाशों के दाह संस्कार के उपरांत उनके तर्पण का था जिसमें मंत्रों द्वारा त्रिपींडी कार्यक्रम सम्पन्न हुआ । आज सोमवार को गरीब असहाय सहयोग संगठन के द्वारा पिछले एक वर्ष में जनपद गाजीपुर के समस्त थाना क्षेत्र से बरामद अज्ञात शव का गाजीपुर के रामेश्वर घाट गंगा तट पर हिन्दू रीति रिवाज से किया गया सामूहिक पिण्डदान त्रिपिड़ी श्राद्ध कार्य किया गया।

यह संगठन पिछले सात 7 वर्षों से लावारिस शव दाह संस्कार करना तथा सामूहिक पिण्डदान तेरही श्राद्ध निरंतर करते आरहे है।
इस कार्य को करने हेतु किसी प्रकार सरकारी फण्ड दान अनुदान राजनीतिक चंदा प्राप्त नही करता हैबल्कि संगठन में जुड़े सदस्यो के सहयोग से किया जाता है।
विगत 7 वर्षो में यह संगठन लगभग 700 लावारिस शवो का अंतिम संस्कार कर चुका है।

इस अवसर पर संगठन के सदस्यों ने सर मुण्डन करा कर पिण्डदान कार्य किया
जिस अवसर पर मुख्य रूप से संगठन संचालक कृष्णा नन्द उपाध्याय
पंडित इंद्रदेव उपाध्याय,पंडित अजय तिवारी,पंडित अनुज, प्रेमशंकर मिश्रा, चन्दन राय, राकेश, शैलेन्द्र यादव,पंकज यादव, जितेंद्र ठाकुर एवं अन्य सहयोगी सदस्य उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -spot_img

Most Popular