Bharat News, India News
Editors' Choice Entertainment

क्योंकि रेखा भी कभी रिया थी !

rekha-riya

बात सन् उन्नीस सौ नब्बे की है यानि तीस साल पहले दो अक्टूबर को फिल्म तारिका रेखा के पति मुकेश ने आत्म हत्या कर ली। उनका शव कमरे के पंखा से लटकता पाया गया। खूब हो हल्ला हुआ।

मुकेश के भाई अनिल के अनुसार उस दिन मुकेश बहुत खुश था तो ऐसा क्या हो गया के उसने आत्महत्या कर ली ?
अनिल को लगा के मुकेश की ह्त्या हुई है,

रेखा को शादी के बाद पता चला था की मुकेश डिप्रेशन में है, और उसका इलाज चल रहा है डिप्रेशन के लिए।

फिर मुकेश ने आत्महत्या कर ली,
और भारत का भेड़िया मीडिया पड़ गया रेखा के पीछे।

पूरे देश में witchhunt चला, देशवासीयों ने रेखा को डायन बताया, आदमी मारने वाली डायन !
मुकेश की #माँ मीडिया के सामने रोइ और बोली के “वो डायन मेरे बेटे को खा गयी ! भगवान् उसे कभी माफ़ नहीं करेगा !)

मुकेश के #भाई अनिल ने कहा की “मेरा भाई रेखा से प्यार करता था, उसके लिए वो जान भी दे सकता था, और वो बर्दाश्त नहीं कर पाया जो रेखा उसके साथ कर रही थी, और अब वो क्या चाहती है, क्या उसकी नज़र हमारी दौलत पर है ?”

#सुभाष_घई ने कहा था की “रेखा ने पूरी फिल्म इंडस्ट्री के चेहरे पर कालिख पोत दी है, जोकि आसानी से नहीं धुलेगी, और मुझे लगता है की इसके बाद कोई भी इज़्ज़तदार परिवार चार बार सोचेगा किसी भी एक्ट्रेस को अपने परिवार की बहु बनाने से पहले !और रेखा का भी करियर ख़त्म ही समझो, कोई भी समझदार डायरेक्टर उसे अपनी फिल्मों में नहीं लेगा, क्यूंकि ऑडियंस अब कभी रेखा को ‘भारत की नारी’ या ‘इन्साफ की देवी’ के तौर पर स्वीकार नहीं करेगी !”

#अनुपम_खेर ने कहा था की “रेखा अब एक राष्ट्रिय खलनायिका बन चुकी है, प्रोफेशनली भी और पर्सनली भी, और मुझे लगता है की उसका करियर भी ख़त्म ही है, साथ ही मुझे समझ नहीं आ रहा की मैं उसके साथ क्या करूँगा अगर वो मेरे सामने आ गयी तो !”

मीडिया ने इस सेंसेशनल स्टोरी को हाथों हाथ लिया और एक से बढ़कर एक रेखा का चरित्रहनन करने वाली हैडलाइन चलाई,
जैसे की
#शोटाइम ने नवंबर 1990 में हैडलाइन दी “The Black Widow” यानी के “काली विधवा”,
#सिनेब्लिट्ज़ ने उसी महीने हैडलाइन दी “The Macabre Truth behind Mukesh’s Suicide” यानी के “मुकेश की आत्महत्या के पीछे का भयानक सच”,

30 साल हो गए हैं उस सब को,
ना तो रेखा का कोई दोष निकला, ना ही मुकेश की ह्त्या का कोई एंगल,
लेकिन रेखा को समाज ने कम से कम 3-4 साल तक इस कदर परेशान रखा के वो खुद डिप्रेशन में आ गयी थी।

और रेखा का कसूर क्या था ?

रेखा का कसूर ये था की उसका पति मुकेश एक अमीर परिवार से था जिनका दिल्ली में बिज़नेस था।
रेखा की शादी 6 महीने तक ही चली थी, उसके बाद रेखा अलग रहने लग गयी थी,
और इसका कारण ये था की मुकेश पर परिवार का दबाव था की वो रेखा को फिल्मों में काम ना करने दे, क्यूंकि उस समय अमीर परिवारों में फिल्मवालों को अच्छा नहीं माना जाता था, खासकर एक्ट्रेसेस को !

बाद में मुकेश के एक व्यवसाई पार्टनर ने ये भी खुलासा किया के मुकेश का खुद का स्टार्ट किया हुआ बिज़नेस भी उस समय नुक्सान में चल रहा था,
और उसने इस से पहले भी आत्महत्या की कोशिशे की।

( स्रोत: विभिन्न वरिष्ठ पत्रकारों के वाल से )

Related posts

जार्ज रेल मंत्री बने तो गाजीपुर को बड़ी रेल लाइन

एडिटर

गुरु तेग़ बहादुर की गुरवाणी

admin

क्या ट्विटर का ट्रेंड्स मोदी की लोकप्रियता में कमी को बता रहा है?

admin

किसान बिल के पक्ष में एक पहलू यह भी

एडिटर

चमोली जलप्रलय: प्रकृति का क्रोध नहीं क्रन्दन है

एडिटर

आंगनबाड़ी और आशा कार्यकत्रिंयों के मानदेय बढ़ाने की मांग

एडिटर

Leave a Comment

error: Content is protected !!