Bihar Election

ताराकिशोर के डिप्टी सीएम बनाये जाने पर व्यवसायी खुश

पटना। बिहार बीजेपी विधानमंडल दल के नेता और डिप्टी सीएम के रुप में तारकिशोर प्रसाद के चयन से कटिहार के व्यवसायिक वर्ग में खुशी का माहौल है। श्री प्रसाद को राष्ट्रीय स्वयंसेवक से पुराना जुड़ाव होने का लाभ मिला । उनका परिवार मूलरूप से सहरसा ज़िले के तलखुआ गांव का रहने वाला है। वो कलवार वैश्य समाज से आते हैं जिसे बिहार में पिछड़ा वर्ग का दर्जा प्राप्त है। मूलरूप

ओवैसी जैसे महावत के सहारे 'हाथी' को दो सीट

(बिहार चुनाव पर फालोअप ) असदुद्दीन ओवैसी ने महागठबंधन को बिहार में हरा दिया।पांच सीटें जीतकर बिहार की राजनीति में ज़ोरदार इंट्री भी दर्ज की।महागठबंधन ने अगर ओवैसी को शामिल कर चुनाव लड़ा होता तो महागठबंधन की बिहार में जीत होती।ओवैसी ने महागठबंधन को दंड दे दिया,अकेले बीस सीटों पर खेल बिगाड़ दिया,मायावती के साथ गठबंधन किया था,मायावती का बिहार में कोई आधार नहीं,फिर भी वो ओवैसी के सहारे सीट

'बिहार में का बा' और 'मिथिला में इ बा' के बीच बिहार की सियासत

‘बिहार में का बा’ को लेकर बिहार की   सियासत गरम हो गया है। भभुआ निवासी नेहा सिंह राठौर भोजपुरी लहजे में बिहार की राजनीति पर तीखा प्रहार कर रही हैं। जिसके जवाब में बिहार की एक अन्य मशहूर गायिका मैथिली ठाकुर ‘ मिथिला में इ बा’ गाकर जवाब दिया है। कोई कलाकार सरकार का पक्ष चुनता है या जनता का, ये उसका अपना फैसला है. ऐसे फैसलों के पीछे इंसान