जनसभा में लाल, पीला, हरा, नीला, इंद्रधनुष की तरह रंग दिख रहे हैं। भाजपा की तरह एक रंग वाले कभी भी बदलाव नहीं ला सकते। समाजवादी का रंग सब लोगों को साथ लेकर चलने वाला रंग है।

(पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव)

गाजीपुर। समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गाजीपुर में भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा सिर्फ नाम बदल रही है। अगले विधानसभा चुनावों में सपा की पूर्ण बहुमत से सरकार बनेगी। मौके पर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर भी पहुंचे। जनसभा में भीड़ देख अखिलेश यादव ने समर्थकों का हाथ जोड़कर अभिवादन किया। अखिलेश यादव ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर जनसभा में हुंकार भरते हुए कहा कि गाजीपुर की धरती वीरों की धरती है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में अमन, चैन और सुख का परिवर्तन होने जा रहा है। 2022 में सपा की सरकार आएगी। इस गाजीपुर से लेकर उस गाजीपुर बॉर्डर तक भाजपा का सफाया हो जाएगा।  अखिलेश ने कहा कि जो एक्सप्रेस-वे भाजपा सरकार ने बनाया है, वह आधा-अधूरा है। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस-वे को बनाने का सपना समाजवादी पार्टी ने देखा था। समाजवादियों ने सपना इसलिए देखा कि यहां से लेकर दिल्ली तक की दूरी कम हो जाए। साथ ही कहा कि यह एक्सप्रेस-वे दूरी ही कम नहीं करेगा बल्कि खुशहाली का एक्सप्रेस-वे होगा। अखिलेश यादव ने कहा कि यह वही सरकार है, जिसने कहा था कि जो हवाई चप्पल में चलता है, उसे हवाई जहाज में बैठाएंगे। जिस तरह पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ रहे हैं, इसमें हमारे गरीब, किसान की गाड़ी नहीं चल पाएगी। उनकी मोटरसाइकिल नहीं चल पाएगी। सरकार ने हर चीज पर महंगाई बढ़ा दी है। भाजपा सरकार किसानों को डीएपी नहीं दे पाई। इस प्रदेश में बुल और बुलडोजर चल रहा है। चुनावों से पहले भाजपा ने नौजवानों को नौकरी देने का वादा किया था, लेकिन वह नौजवान बेरोजगारों को आज तक रोजगार नहीं दे पाई है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि अब हर वर्ग के लोगों ने बदलाव का मन बना लिया है। उन्होंने कहा कि इस जनसभा में लाल, पीला, हरा, नीला, इंद्रधनुष की तरह रंग दिख रहे हैं। भाजपा की तरह एक रंग वाले कभी भी बदलाव नहीं ला सकते। समाजवादी का रंग सब लोगों को साथ लेकर चलने वाला रंग है।

इस कार्यक्रम में पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह, विधायक डा. वीरेंद्र यादव, काशीनाथ यादव, सिबगतुल्‍लाह अंसारी, मन्‍नू अंसारी, रामधारी यादव, लालजी यादव, आदि लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!