Covid-19

टीकाकरण को लेकर गांवों में अंधविश्वास और अफवाह के बीच युवाओं ने लगवाई वैक्सीन

टीकाकरण करने गयी टीम को होना पड़ रहा परेशान वाराणसी । कोविड़-19 टीकाकरण के लिए सभी को निशुल्क टीकाकरण की घोषणा के बाद भी जागरूकता के अभाव में टीकाकरण के लिए लोग केन्द्र पर कम आ रहे हैं। कम टीकाकरण होने से विपक्ष सरकार को आड़े हाथ ले रही है जबकि हकीकत यह है कि अधिकांश लोग टीकाकरण करवाना ही नहीं चाहते। यह स्थिति गांवों में ज्यादा देखने को मिल

2.7 लाख टीकाकरण के साथ प्रदेश में गाजीपुर अव्वल

गाजीपुर। कोविड-19 संक्रमण से बचाव का एकमात्र उपाय कोविड-19 टीकाकरण ही है। इसको लेकर प्रदेश सरकार के निर्देश पर जिला प्रशासन अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कराने में जुटा है। इसी क्रम में सात जून को जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह के निर्देशन में जनपद में 16910 लोगों का टीकाकरण कराकर जिले ने प्रदेश ने पहला स्थान प्राप्त किया है। दूसरे स्थान पर मेरठ और तीसरे स्थान पर नोएडा रहे।जिलाधिकारी ने कहा

निगरानी समितियों को सक्रिय करें : डीएम

औरैया( विपिन गुप्ता)। सोमवार को जिला मुख्यालय ककोर में जिलाधिकारी औरैया सुनील कुमार वर्मा ने निगरानी समितियों को क्रियाशील करने हेतु समस्त बीडीओ, ईओ की बैठक ली । जिसमें जिलाधिकारी ने निम्न निर्देश दिए कि समस्त बीडीओ एवं ईओ अपने ब्लाक की निगरानी समितियों को सक्रिय कर लें। यदि इनमे कुछ लोग ट्रांस्फ़र हो गए हों तो नये लोग रखें। एनजीओ के लोग, समाजसेवी, युवक मंगल दल के लोग, रिटायर्ड

कोरोना रोकने के लिए वैक्सीनेशन जरूरी - समाजसेवी विनोद पंत

गाजियाबाद। बहुत सारे लोगों के सुख-दुख के साथी सच्चे हमदर्द, आम जनमानस की हर संभव मदद के लिए हर समय तैयार रहने वाले योद्धा वरिष्ठ नागरिक समाजसेवी विनोद पंत ने “क्लियर मेडी हॉस्पिटल सेक्टर-15 वसुंधरा, गाजियाबाद में कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी डोज ली, उन्होंने वैक्सीनेशन करने के बेहतरीन इंतजाम करने के लिए “क्लियर मेडी हॉस्पिटल” प्रबंधन व हॉस्पिटल इंचार्ज अक्षय को बधाई दी, उन्होंने कहा कि पहली डोज लेने के

train-pooja

नई दिल्ली।कोरोना काल में बंद भारतीय रेल की नियमित यात्री सेवा अप्रैल से अपने पूर्व रूप में आ सकती है। साथ ही रेलवे नया टाइम टेबल भी लागू कर सकती है। अभी रेलवे विशेष मेल एक्सप्रेस ट्रेन चला रहा है जो पूरी तरह आरक्षित श्रेणी की है। कुछ जगह लोकल व उपनगरीय सेवाएं शुरू की गई है, लेकिन अभी भी लगभग 35 फीसदी यात्री ट्रेनें बंद है। कोरोना संक्रमण के

कोविड-19 : जिला का रिकवरी रेट 97.92 प्रतिशत

हिसार। कोरोना महामारी के मद्देनजर जिला के विभिन्न स्थानों पर की जा रही सैंपलिंग में मंगलवार को लगातार दूसरे दिन कोरोना का कोई भी मामला सामने नहीं आया है। उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला में कोरोना संक्रमितों को रिकवरी रेट 97.92 प्रतिशत हो गया है। जिला में अब कोरोना संक्रमण के एक्टिव केसों की संख्या भी घटकर 31 पर आ गई है। स्वास्थ्य विभाग

एम्स के सफाईकर्मी को लगा देश का कोविड़ टीका

दिल्ली। दिल्‍ली स्थित एम्‍स के फ्रंटलाइन सफाई कर्मी मनीष कुमार, देश के पहले व्‍यक्ति हैं, जिन्‍हें घातक कोरोना वायरस से बचाने वाली वैक्‍सीन लगाई गई।मनीष ने कोविड जोन में संक्रमण नियंत्रण का बिना प्रशिक्षण लिए जाकर अपना काम उत्‍साह से किया था, इसलिए इस ‘अनकहे नायक’ को कोरोना वैक्‍सीन को पाने का सबसे पहले मौका मिला। एम्‍स के डायरेक्‍टर डॉ रणदीप गुलेरिया ने कहा कि जब मैं खुद आसानी से

स्वदेशी टीका पूर्ण रुप से सुरक्षित: मुख्य चिकित्सा अधिकारी

पहले चरण में कोरोना वारियर्स को लगा टीका गाजीपुर। बहुप्रतिक्षित, पूर्णरुप से स्वदेशी कोविड़ -19के टीकाकरण की शुरुआत आज शनिवार को कोरोना वारियर्स को लगाकर किया गया। जनपद में पहला टीका मुख्य चिकित्सा अधिकारी व जिला प्रतिरक्षा अधिकारी ने लगवाकर इसका शुभारंभ किया। प्रधानमंत्री मोदी के घोषणा के बाद जिले में मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी जीसी मौर्या और डा. उमेश कुमार, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी ने कोविड-19 वैक्‍सीन का टीका लगवाकर कार्यक्रम का

मंगलवार से कोविड़-19के ड्राई रन की शुरुआत

लखनऊ । प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण के लिए ड्राई रन तेज हो गयी है।5 जनवरी को यूपी के सभी जिलों में कोविड वैक्सिनेशन का ड्राई रन होगा।इस आशय को लेकर अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन ने सभी 75 जिलाधिकारी व कमिश्नर को पत्र लिख निर्देशित किया है। इस आशय के पत्र के बाद जिलेवार छह-छह स्थानों पर टीकाकरण का पूर्वाभ्यास किया जाएगा।इसके तहत तीन ग्रामीण व तीन शहरी क्षेत्र

Co-WIN एप के जरिये होगा टीकाकरण

एप के जरिये रजिस्टर्ड लोगों को टीका जल्द मिलने में सुविधा गंभीर रोगियों को तीसरे चरण में लगेगा टीका भारत के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में शनिवार से कोरोना वैक्सीन का ड्राई रन (Corona vaccine) शुरू हो चुका है।इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड-19 वैक्सीन वितरण की निगरानी, डेटा रखने और लोगों को वैक्सीन के लिए रजिस्टर करवाने के लिए कोविन (Co-WIN App) नाम से एक ऐप